अर्ध शहरी क्षेत्रों में भी कूड़े कचरे को निकालने के लिए चलेगा विशेष अभियान, संबंधित पंचायती राज्य प्रतिनिधि करेंगे पूरा सहयोग-उपायुक्त

इस खबर को सुनें
कुरांह में एक महीने के भीतर स्थापित होगा ऑटोमेटिक बायो कंपोस्टर
सुरभि न्यूज़, चंबा। डीसी राणा ने कहा कि समूचे जिले में शहरी क्षेत्र के साथ लगते अर्ध शहरी क्षेत्रों में भी जगह-जगह फैंके गए कूड़े कचरे को निकालने के लिए एक विशेष मुहिम चलाई जाए। इसमें संबंधित पंचायतों के पंचायती राज्य प्रतिनिधि भी अपनी सक्रिय भूमिका निभाएंगे। उपायुक्त डीसी राणा ने यह बात आज उपायुक्त कार्यालय सभागार में राष्ट्रीय हरित ट्रिब्यूनल के निर्देशानुसार गठित जिला स्तरीय समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही।
उन्होंने ये भी कहा कि नगर परिषद चंबा के तहत सुल्तानपुर वार्ड में सीवरेज सुविधा के लिए बनने वाले सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का कार्य भी जल्द शुरू किया जाए। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में कूड़े कचरे के निस्तारण की बहुत बड़ी समस्या है। नगर निकाय यूजर चार्ज बढ़ाने और उसे पूरी तरह से एकत्रित करने की दिशा में भी ठोस कदम उठाए ताकि जहां लोगों को सभी बुनियादी सहूलतें उपलब्ध हों, वहीं नगर निकाय की आमदनी में भी बढ़ोतरी दर्ज हो सके। डीसी राणा ने कहा कि यह संबंधित नगर निकाय की जिम्मेदारी है कि वह अपने नागरिकों को बुनियादी जरूरतों से जुड़ी सुविधाएं मुहैया करे। लेकिन इसी के साथ लोगों का भी यह दायित्व है कि वे इन सुविधाओं के बदले जो यूजर चार्ज तय किए जाते हैं उन्हें समय पर अदा करें। उपायुक्त ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे इस संबंध में नियमित निगरानी सुनिश्चित बनाए। उन्होंने ध्वनि प्रदूषण पर अंकुश लगाने की दिशा में भी कारगर कदम उठाने के लिए कहा। वाहनों की पासिंग के समय यह सुनिश्चित किया जाए कि वाहनों में प्रेशर हॉर्न ना हो। इसके अलावा वाहनों पर ब्लो हॉर्न के बजाए केवल नो हॉर्न लिखा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिप्रेक्ष्य में सड़कों पर वाहनों की तादाद कई गुणा बढ़ रही है। ऐसे में हॉर्न बजाने से ध्वनि प्रदूषण आम जनजीवन के लिए बड़ा दुष्प्रभाव ला रहा है।
उपायुक्त ने कुरांह स्थित कूड़ा  कचरा प्रबंधन केंद्र में ऑटोमेटिक बायो कंपोस्टर की जल्द स्थापना को लेकर निर्देश दिए कि अगले एक महीने के भीतर ऑटोमेटिक बायो कंपोस्टर का संचालन सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को भी कहा कि विभाग एक ऐसी कार्य योजना जल्द तैयार करे जिसके तहत पॉलिथीन का प्रयोग करके किसी एक सड़क को मॉडल सड़क के तौर पर पक्का किया जा सके। बैठक में सहायक आयुक्त राम प्रसाद के अलावा समिति से जुड़े अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद रहे।

दिशा वर्कर वालंटियर साक्षात्कार की कोई भी आधिकारिक जानकारी नहीं- स्वास्थ्य विभाग 

लोग सचेत रहें और विभागीय अधिकारियों से करें इस तरह की सूचना साझा- उपायुक्त 
चम्बा जिला में गैर एक गैर सरकारी संस्था द्वारा दिशा वर्कर वॉलिंटियर के साक्षात्कार को लेकर पंचायती राज प्रतिनिधियों द्वारा प्रशासन से की गई शिकायत के बाद जिला के उपायुक्त डीसी राणा ने आज यहां कहा कि लोग इस तरह के साक्षात्कार या भर्ती के प्रति पूरी तरह से सचेत रहें। जब तक संबंधित विभाग इस तरह के साक्षात्कार या भर्ती की पुष्टि नहीं करता है वे किसी भी तरह का जोखिम ना उठाएं। उन्होंने लोगों का आह्वान भी किया कि वे इस तरह की किसी भी गतिविधि की जानकारी प्रशासन और सबंधित विभाग के ध्यान में अवश्य लाएं। यदि कोई असामाजिक तत्व किसी को झांसे में रख रहा है तो उसके खिलाफ पुलिस में भी शिकायत दर्ज करवाई जाए। स्वास्थ्य विभाग ने भी स्पष्ट किया है कि इस तरह के साक्षात्कार की कोई भी आधिकारिक जानकारी विभागीय स्तर पर नहीं है। गौरतलब है कि कुछ पंचायती राज प्रतिनिधियों ने प्रशासन के समक्ष यह शिकायत दर्ज करवाई थी कि उनके क्षेत्र में महिलाएं उन्हें इस तरह के साक्षात्कार में शामिल होने की बात कर रही हैं जबकि उन्हें इसकी कोई आधिकारिक जानकारी तक नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि जब इस संबंध में साक्षात्कार लेने वाली गैर सरकारी संस्था से संपर्क किया गया तो वह कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए।
क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक में खोले गए खाते भी मान्य होंगे- जिला रोजगार अधिकारी
जिला रोजगार अधिकारी अरविंद सिंह चौहान ने बताया कि श्रम एवं रोजगार विभाग द्वारा वर्ष 2019 में जारी किए गए निर्देशों के अनुसार रोजगार विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए अभ्यर्थी का खाता राष्ट्रीय कृत बैंक में होना अनिवार्य था। इसके चलते कुछ अभ्यर्थियों को काफी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा था। लेकिन अब नए निर्देशों के बाद भत्ता लेने के लिए अभ्यर्थी राष्ट्रीय कृत बैंक के अलावा क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक जैसे हिमाचल प्रदेश ग्रामीण बैंक में भी खाता खोल सकते हैं। ये बैंक खाते भी भत्ते के लिए मान्य होंगे।