साइबर सेल कुल्लू ने अगस्त माह मे ठगी की 8 शिकायत मामलों मे कुल 1 लाख 25 हजार 840 रुपए करवाये बापिस

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़ कुल्लू। जिला कुल्लू पुलिस का साइबर सेल लगातार साइबर अपराधियों पर नज़र रखता है तथा समय समय पर सोशल मीडिया तथा अन्य माध्यमों से लोगों को जागरूक करने का प्रयास भी करता है परन्तु फिर भी ठगी के मामले बेहद बढ़ रहे हैं। अभी भी बहुत सारे लोग जाने अनजाने में ठगी का शिकार हो रहे हैं।  साइबर अपराधी प्रतिदिन अलग अलग तरह से नये नये तरीके ढूंढ कर लोगों को ठगी का शिकार बना रहे हैं। इसी कड़ी में अगस्त माह में जिला कुल्लू में कुछ शिकायतें दर्ज हुई जिन पर साइबर सेल कुल्लू ने समय रहते कार्रवाई करते हुए आठ शिकायतों में शिकायतकर्ताओं के 125840 रूपये वापिस शिकायतकर्ता के बैंक खातों में पहुँचा दिए हैं। ज्यादातर यह देखने में आया कि आजकल साइबर अपराधी  साइबर अपराध करने के लिए हर किसी के मोबाईल पर text message भेजते हैं जिसमें लिखा गया होता है कि उनका बीएसएनएल का या एयरटेल का या जियो का सिम कार्ड बंद हो रहा है। उसको तुरंत अपडेट करवाएं अन्यथा सेवाएं बंद हो जाएंगी। text  मे ही  बात करने के लिए अपराधी ने अपना एक नंबर भी दिया होता है। बहुत सारे लोग जाने अनजाने में उस नंबर पर कॉल बैक कर देते हैं ताकि वो अपना सिम कार्ड चालू रख सकें और फिर वो अपराधी उक्त व्यक्ति से बात करके एक क्विक स्पोर्ट नामक एप्प डाउनलोड करवाता है। उसके माध्यम से विक्टिम के  मोबाइल का कंट्रोल हासिल कर लेता है। ऑनलाइन बैंकिंग  के माध्यम से विक्टिम  का खाता खाली कर देता है। इस तरह का अपराध करने में अपराधी को ओटीपी लेने की आवश्यकता भी नहीं रहती और जाने अनजाने में बहुत सारे लोग यह समझते हैं कि उन्होंने कोई ओटीपी तो शेयर नहीँ किया इसलिए उनसे ठगी नहीं होगी परन्तु वो ठगी का शिकार हो चुके होते हैं। उन्हें तब पता चलता है जब वो अपना बैंक बैलेंस चैक करते है। साइबर सेल इंचार्ज ने बताया कि ठगी के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। साइबर अपराधी अलग अलग तरीके से ठगी को अंजाम दे रहे हैं। बार बार लोगों को हर संभव माध्यम से जागरूक किया जा रहा है परन्तु अभी भी जागरूकता की बहुत ज्यादा आवश्यकता है। साइबर इंचार्ज ने यह भी बताया कि साइबर अपराध में जितनी जल्दी हो सकता है रिपोर्ट करें। अगर आप पन्द्रह से बीस मिनट के अंदर पुलिस को इन्फॉर्म कर देते हैं तो आपके पैसे बचाने की संभावना ज़्यादा रहती है। अगर आप तुरंत पुलिस थाना साइबर सेल में सुचना दे देते है या फिर पुलिस थाना में पहुँचने में असमर्थ है तो आप व्हाट्सएप्प के माध्यम से भी कुल्लू जिला के शिकायतकर्ता मोबाइल नंबर 8219681731, 8219681732 पर अपने साथ हुई ठगी की रिपोर्ट कर सकते हैं। परंतु साथ ही साथ पुलिस थाना में शिकायत करें और संबंधित बैंक से अपनी पासबुक की कॉपी का अपडेट भी हासिल करें क्योंकि किसी भी ट्रांजेक्शन को कैंसल करवाने के लिए ट्रांजेक्शन आईडी का होना बहुत आवश्यक होता है इसलिए आप रिपोर्ट करने से पहले ट्रांजेक्शन आईडी कन्फर्म कर लें और वो भी पुलिस को साथ में बताए। अगर आप सोशल मीडिया के यूजर हैं तो कृपया दी जा रही जानकारी को  समझे और अपने आप को साइबर खतरे से सुरक्षित रखे। आप निचे दिए गए निर्देशों का पालन करें जिससे साईबर ठगी से बच सकते है।

  1. किसी भी ऑफर के झांसे में न आवे, पहले उस ऑफर के बारे में पूर्णतया जान ले।
  2. अपने बैंक खाते से जुड़ी खुफिया जानकारी किसी अनजान व्यक्ति के साथ सांझा ना करें।
  3. किसी भी होम लोन, कार लोन, पर्सनल लोन और अन्य किसी लोन या दिवाली ऑफर के लिए कोई कॉल आता हैं तो उसका रेस्पॉन्स ना दे जब तक की उस ऑफर की कोई ऑफिसियल जानकारी न हो।
  4. आपका बैंक आपसे कभी भी OTP, CVV ,DOB और ATM पिन नहीं मांगता हैं अगर कोई फ़ोन कॉल पर बैंक का अधिकारी बताकर आपसे इन सभी कि जानकारी मांगता हैं तो ऐसे फ़ोन कॉल का जवाब ना दें।
  5.  ATM कार्ड का प्रयोग सुरक्षित ATM में करें तथा अपना ATM कार्ड किसी अनजान को ना दें।
  6. हाल ही के सबसे पॉपुलर क्राइम की बात करे तो वो ये है की कोई अपनी पहचान आर्मी पर्सन बताता है और अपनी कोई ओल्ड कार, बाइक, स्कूटी या अन्य कोई सामग्री ऑनलाइन या OLX पर बेचने की बात करता है तो उस पर ट्रस्ट/विश्वास न करे।
  7. ऑनलाइन ट्रांजेक्शन सुरक्षित वेबसाइट (https) से ही करें।
  8. दोस्तो कोरोना वैक्सीन के लिये आये हुए फ़ोन को अटेंड न करें। रेजिस्ट्रेशन के नाम पर आप का आधार कार्ड का नम्बर मांगा जाएगा फिर कहेंगे कि आप के मोबाइल पर OTP आएगा वो हम को बताओ आप का रेजिस्ट्रेशन हो जाएगा। वैक्सीन आप को जल्द मिल जाएगी और जैसे ही आप ने OTP बताया आप का बैंक एकाउंट खाली हो सकता है।
  9. अपनी और अपने परीजनो की फोटो, विडियो या कोई भी जानकारी Facebook, Whatsapp, Twitter, Instagram में पोस्ट करने में और Profile Picture और Status अपडेट करने में एक बहुत बड़ा जोखिम है, अत: ये जोखिम उठाने से पहले ये फोटो और विडियो एक बार अवश्य देख लें, वरना कहीं बाद में पछताना ना पड जाए।
  10. यह हमेशा सलाह दी जाती है कि कभी भी Google पर ग्राहक सेवा केंद्र का नंबर न खोजें। सीधे सम्बन्धित वेबसाइटों पर जाएँ।
  11. कोई भी लिंक क्लिक व एप डाऊनलोड करते वक्त बहुत सावधानी बरतें। जरा सी लापरवाही आपके साथ धोखाधड़ी की वारदात को जन्म दे सकती है।
  12. पासवर्ड जितना स्‍ट्रांग होगा उतना ही आपका डेटा भी सुरक्षित होगा। अक्षरों, संख्याओं और विशेष कैरेक्‍टर्स को जोड़कर पासवर्ड को स्‍ट्रांग बनाएं। अलग-अलग खातों के लिए हमेशा अलग आईडी/पासवर्ड का चयन करें।
  13. किसी भी अनजान वीडियो कॉल को ना उठाये आजकल अनजान मोबाइल नंबरों से लड़की बनकर आपसे बात करने का प्रयास करते हैं। आपका एक छोटा सा वीडियो गलत तरीके से इस्तेमाल करके आपको ठगी का शिकार बना सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *