ब्यास नदी में होगी महाआरती, शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर होंगे मुख्यतिथि

इस खबर को सुनें

पूजा ठाकुर कुल्लू। मोहल नेचर पार्क के समीप ब्यास तट पर 21 दिसम्बर को सांय छः बजे हजारों दीपों की जगमगाहट के बीच सैंकड़ों लोगों द्वारा महा-आरती रिवर उत्सव का मुख्य आकर्षण होगी। शिक्षा व कला, भाषा एवं संस्कृति मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ब्यास नदी में दीपक प्रवाहित करके महाआरती का शुभारंभ करेंगे। यह जानकारी उपायुक्त आशुतोष ने आज यहां दी। उपायुक्त ने रिवर उत्सव के दिन आयोजित की जाने वाली गतिविधियों के संबंध में जानकारी साझा करते हुए कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव की कड़ी में आगामी 21 दिसम्बर को नेचर पार्क मोहल में जिला स्तरीय नदी उत्सव का आयोजन किया जाएगा। रिवर उत्सव के कार्यक्रम प्रातः 8 बजे से लेकर सांय 7 बजे तक दिनभर चलेंगे। उत्सव के सफल आयोजन के लिये जल शक्ति विभाग को जिम्मेवारी सौंपी गई है।

अन्य अनेक विभागों तथा आम लोगों का भी सहयोग लिया जा रहा आशुतोष गर्ग ने कहा कि नदी उत्सव को बड़े पैमाने पर मनाने के उद्देश्य से उपायुक्त की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया है। जाने माने इतिहासकार व लेखक डॉ. सुरत ठाकुर तथा पुजारी संघ के अध्यक्ष को उत्सव में सहयोग के लिये आमंत्रित किया गया है। आशुतोष गर्ग ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव की कड़ी में ‘मेरी ब्यास, जीवन की आस’ थीम पर आधारित नदी उत्सव की शुरूआत प्रातः8 बजे नेचर पार्क में आर्ट ऑफ लीविंग संस्था के नेतृत्व में योगाभ्यास से होगी। योग एक घण्टे तक चलेगा। नेहरू युवा केन्द्र व एनएसएस वॉलन्टियर्ज सहित समस्त उपस्थित लोग योगाभ्यास करेंगे।

स्कूली बच्चों की होगी चित्रांकन प्रतियोगिता
‘रिवर अवर लाइफलाइन’ यानि नदी हमारा जीवन थीम पर नेचर पार्क में स्कूली बच्चों की चित्रांकन प्रतियोगिता प्रातः 10 बजे से 11 बजे के बीच आयोजित की जाएगी। इसकी व्यवस्था उपनिदेशक उच्च व प्रारंभिक शिक्षा करेंगे। विजेताओं को पुरस्कार तथा प्रमाण पत्र जल शक्ति विभाग द्वारा प्रदान किये जाएंगे। बाद में ब्यास नदी में सफाई अभियान भी चलाया जाएगा जिसमें वॉलन्टियर्ज के अलावा स्वेच्छा से स्थानीय लोग भाग लेंगे। आशुतोष गर्ग ब्यास नदी की महाआरती में भाग लेने के लिये आम जनमानस को मोहल नेचर पार्क पर सांय 5.30 बजे तक पहंुचने की अपील की है। महा-आरती से पूर्व हजारों दीप प्रज्जवलित किये जाएंगे जिससे संगम स्थल पूरी तरह से जगमगा जाएगा। इस अद्वितीय दृष्य के हजारों लोग साक्षी बनेंगे। सभी विभागों के अधिकारी व कर्मचारी भी महाआरती में मौजूद रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *