4,500 मीटर ऊंचाई पर फहराया जाएगा 280 फुट राष्ट्रीय ध्वज

इस खबर को सुनें

पूजा ठाकुर कुल्लू। गणतंत्र दिवस, 26 जनवरी के दिन देश-सम्मान में जहां पूरे राष्ट्र में विभिन्न स्थानांें पर कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे, वहीं कुल्लू के युवाओं द्वारा गत वर्षों से यह राष्ट्रीय पर्व अनूठे एवं रहस्यमयी तरीके से मनाया जा रहा है। इन साहसिक युवाओं ने इस मर्तबा यह उत्सव 4500 मीटर ऊंचे रोरग लेक में 280 फुट राष्ट्रीय ध्वजारोहण द्वारा मनाने का निर्णय लिया है।
टीम के मुख्य पर्वतारोही डीआर सुमन ने बताया कि गर्त वर्ष उनकी टीम ने स्वतंत्रता दिवस, 15 अगस्त के शुभ अवसर पर पार्वती घाटी के अंतिम छोर पिन दर्रा (5319 मीटर) पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया था। इस सफल अभियान के लिए उन्हें डब्ल्यूएसी (वल्र्ड अमेज़िग क्रिएटिव) एवं आइएएफ (इण्डियन एडवेंचर फाउंडेशन) द्वारा वल्र्ड रिकाॅर्ड से सम्मानित किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि देश एवं प्रकृति के प्रति सम्मान एवं युवाओं को कुसंगति से बचने हेतु जागरुक करने के उद्देश्य से प्रति वर्ष विशेष पर्वों पर इस प्रकार की साहसिक एवं देश-सम्मान की गतिविधियों को जारी रखेंगे। उन्होंने बताया कि इसी दिशा में इस बार गणतंत्र दिवस के अवसर पर उनकी टीम ने पार्वती घाटी के ही रोरग लेक (4500 मीटर) में पर्वतारोहण कर 280 फुट राष्ट्रीय ध्वज फहराने का निर्णय लिया है। बता दें इस समय रोरग लेक में लगभग 7 फुट बर्फ की मोटी चादर है, बावजूद इसके डीआर सुमन व उनकी टीम के हौसलें बुलंद हैं। सुमन ने बताया कि यह उनका एक दिवसीय अभियान है, जिसको लेकर आइएएफ (इण्डियन एडवेंचर फाउंडेशन) के रिकाॅड्र्स में दर्ज करवाने हेतु प्रस्तावित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि उनकी टीम में इस बार 22 सदस्य हैं, जिनमें धर्मशाला के सर्च एण्ड रेस्क्यू टीम से 6 सदस्य, 3 सदस्य आइएएपफ से तथा अन्य पार्वती घाटी व मनाली से साहसिक गतिविधियों से जुड़े युवा हैं। उन्होंने बताया कि उनके दल में इस बार तीन महिला सदस्य भी हैं। चर्चित पर्यावरणविद् एवं लेखक गणेश गनी हरी झण्डी दिखाकर दल को अभियान हेतु रवाना करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *