विकास कार्यों का प्रभावशाली ढंग से क्रियान्वयन सुनिश्चित कर निर्धारित अवधि में पूरा करें अधिकारी-गोविंद ठाकुर

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़ कुल्लू। शिक्षा, भाषा कला एवं संस्कृति मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने जिला में चल रहे विकास कार्यों का प्रभावशाली ढंग से क्रियान्वयन सुनिश्चित कर निर्धारित अवधि में पूरा करने के अधिकारियों को निर्देश दिए। वह आज देव सदन में विभिन्न विभागों द्वारा जिला में संचालित किए जा रहे विकास कार्यों को लेकर आयोजित की गई जिला योजना विकास एवं 20-सूत्रीय कार्यक्रम समिति की प्रगति समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। इस दौरान विभिन्न विकासात्मक कार्यों से सम्बंधित मुख्यंमंत्री द्वारा की गई घोषाणाओं तथा शिलान्यासों की प्रगति की भी समीक्षा की गई। उन्होंने सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे बेहतर तालमेल से सड़क, स्कूल भवनों, स्वास्थ्य भवनों, विद्युत तथा पेयजल स्कीमों सहित संचालित की जा रही अन्य परियोजनाओं के कार्यों को सर्वोच्च प्राथमिकता प्रदान करें ताकि जिला के शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को समय पर सुविधाएं उपलब्ध हो सके।  मुख्यमंत्री द्वारा कोराना काल में प्रदेश में के 4500 करोड़ रूपए की विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण तथा शिलान्यास किए गए। वैक्सीनेशन की पहली तथा  दूसरी डोज लगाने के मामले में हिमाचल प्रदेश देश का प्रथम राज्य बनने का श्रेय भी मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के कुशल नेतृत्व को जाता है।  उन्होंने कहा कि देश में कोरोना की तीसरी लहर से स्वयं तथा औरों को सुरक्षित रखते हुए सभी को प्रदेश के विकास के लिए परस्पर सहयोग के साथ कार्य करते हुए आगे बढ़ना होगा। उन्होंने कहा कि विकास निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है तथा विकासात्मक कार्यों को निर्वाध गति से आगे बढ़ाया जाएगा। विकास के क्षेेत्र में धन की कमी को आड़े नहीं आने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जो मुख्यमंत्री द्वारा जो शिलान्यास किए गए हैं, उन पर जिला में सराहनीय प्रगति हुई है तथा अच्छा कार्य चल रहा है लेकिन तकनीकी कारणों से कुछ घोषणाएं ऐसी है जिन्हें अभी पूरा किया जाना है।

उन्होंने अधिकारियों से बेहतर तालमेल से सभी प्रकार के विकास कार्यों को गति प्रदान कर निर्धारित अवधि में पूरा करने के निर्देश दिए ताकि उन्हें इसी वर्ष जनता को समर्पित किया जा सके। शिक्षा मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री ने पूर्ण राज्यत्व दिवस के अवसर पर 25 जनवरी को प्रदेश के कर्मचारियों को 6500 करोड़ रूपए के वित्तीय लाभ प्रदान किए। पुलिस कर्मियों को उच्च वेतनमान देने की घोषणा की। इसके अतिरिक्त प्रदेश के 11 लाख विद्युत उपभोक्ताओं को 60 यूनिट तक  बिजली मीटर रैंट सहित  मुफत  देने तथा 60 से 125 यूनिट तक बिजली खर्च करने वाले उपभोक्ताओं को 1 रूपए 90 पैसे प्रति यूनिट के स्थान पर 1 रूपए  प्रति यूनिट देने की घोषणा की। इसी प्रकार प्रदेश के 2 लाख 25 हजार कर्मचारियों को छठे वेतन आयोग की शिफारिशों को पंजाब पद्धति पर देने  जिसमें 2.25, 2.59 और 15 प्रतिशत का तीसरा विकल्प दिया गया। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश को विकास के हर क्षेत्र में प्रथम राज्य बनाने तथा प्रदेश को शिखर पर ले जाने के लिए सभी को मिलजुल  कर प्रयास करने होंगे। बंजार विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुरेन्द्र शौरी ने कहा कि अधिकारी सीएम घोषणाओं तथा शिलान्यास से सम्बंधित विकास कार्यों को समयबद्ध तरीके से पूरा करें। उन्होंने कहा कि निर्धाेिरत अवधि में कार्यों के पूरा न होने से परियोजनाओं के निर्माण की लागत भी बढ़ जाती है और लोगों को समय पर सुविधाएं भी नहीं मिल पाती। उन्होंने कहा कि अंतिम चुनावी वर्ष में विकास कार्यों को गति प्रदान करने को कड़ी मेहनत करें ताकि इसी वर्ष अधिकतर परियोजनाओं को पूर्ण कर उन्हें जनता को समर्पित किया जा सके।  उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने शिक्षा मंत्री का स्वागत किया तथा उनके द्वारा जिला में विभिन्न विकास परियोजनाओं के प्रभावी कार्यन्वयन कर गति प्रदान करने को लेकर दिए गए बहुमूल्य सुझावों तथा दिशा-निर्देशों की अक्षरशः अनुपालना सुनिश्चित करने का आश्वासन दिया। अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी प्रशांत सरकैक ने जिला में विभिन्न विभागों द्वारा चलाई जा रही विकास परियोजनाओं का विभाग वार बेहतरीन ढंग से एंजेडा शिक्षा मंत्री के सम्मुख रखा। इस अवसर पर जिला भाजपा अध्यक्ष भीमसेन शर्मा, जिला महामंत्री अखिलेश कपूर, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी अमित सूद, मंडलाध्यक्ष कुुल्लू ठाकुर चंद, नग्गर ब्लाक के बीडीसी अध्यक्ष कुंदन ठाकुर सहित अन्य विभागों के अधिकारी तथा समिति के गैर सरकारी सदस्य भी उपस्थित थे।                                

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *