रवि ठाकुर पंजाब के भोआ विधान सभा क्षेत्र के अवर्जोबर नियुक्त

इस खबर को सुनें
सुरभि न्यूज़ केलांग। देश के चार राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर जहां पंजाब, यूपी, गोवा और उत्तराखंड में सियासी माहौल पूरी तरह गर्म आ चुका है , इस चुनावी दंगल में उत्तरे राजनीतिक दल भी अपने-अपने प्रत्याशियों को जीत दिलवाने के लिए जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं । इस फेहरिस्त में लाहौल स्पीति के पूर्व विधायक रवि ठाकुर को कांग्रेस हाईकमान ने पंजाब के भोआ विधानसभा क्षेत्र की जिम्मेदारी बतौर अवर्जोवर बनाकर दी है। रवि ठाकुर भोआ से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी की जीत सुनिश्चित करने के लिए जहां आगामी कुछ समय तक वहां के मतदाताओं की नब्ज टटोलेंगे, वहीं भोआ में कांग्रेस को चुनावी दंगल में जीत दिलवाने के लिए जी तोड़ मेहनत भी करेंगे। पंजाब के भोआ विधानसभा क्षेत्र का अवर्जोबर नियुक्त करने पर रवि ठाकुर ने कांग्रेस हाईकमान का आभार व्यक्त किया है। रवि ठाकुर ने विशेषतौर पर कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी, राहुल गांधी साहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का अभार व्यक्त किया है। रवि ठाकुर का कहना है कि वह तह दिल से कांग्रेस हाईकमान का आभार व्यक्त करते हैं और यह कहना चाहते हैं कि जो भरोसा कांग्रेस हाईकमान ने उन पर जताया है वह उस पर खरा उतरने का पूरा प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि उनका यह प्रयास रहेगा कि भोआ विधानसभा क्षेत्र की जो जिम्मेदारी उन्हें इस चुनावी समय में सौंपी गई है उस पर वे कांग्रेस प्रत्याशी को विजय दिलाने में भरसक प्रयास करेंगे। यहां बतादें कि इससे पहले भी लाहुल स्पीति के पूर्व विधायक रवि ठाकुर ने वर्ष 1986 में दिल्ली के बिलासपुर में आयोजित अखिल भारतीय कांग्रेस के प्रशिक्षण शिविर में अहम भूमिका अदा की थी और इस प्रशिक्षण शिविर में पूर्व प्रधानमंत्री स्व . राजीव गांधी के साथ साथ देश के सभी विभागों के मंत्री उपस्थित रहे थे। इसके अलावा वर्ष 1987 में हरिद्वार में आयोजित प्रशिक्षण शिविर में जहां पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी ने शिरक्त की थी वहीं इस प्रशिक्षण शिविर में रवि ठाकुर ने संगठन मंत्री के रूप में कार्य किया था। इस दौरान उन्होंने जगदमिया पाल व तारिक अनवर के साथ काम भी किया था। इसके बाद 1993 में तिरुपति में आयोजित अधिवेशन में हरिश रावत के साथ संचालक के रूप में कार्य किया और अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभाया। इसके अलावा दिल्ली विधानसभा चुनावों में पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन के गृह क्षेत्र में बतौर पर्यवेक्षक कार्य भी किया। इसके बाद पंजाब के नवा शहर में बतौर पर्यवेक्षक कार्य करने का मौका मिला जिसे उन्होंने बखूबी निभाया। इसीतरह देश के कई बड़े संस्थानों में रवि ठाकुर ने पार्टी के दिशा निर्देशानुसार महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया और पार्टी को नए मुकाम पर पहुंचाने में अपनी अहम भूमिका अदा की है। बहरहाल कांग्रेस हाईकमान ने लाहौल स्पीति के पूर्व विधायक रवि ठाकुर के इस राजनीतिक अनुभव को ध्यान में रखते हुए उन्हें एक बार फिर नई जिम्मेदारी दी है और उन्हें पंजाब के बोआ में बतौर पर्यवेक्षक बनाकर भेजा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *