इंटक युनियन इकाई ने मजदूरों कि मांगों को लेकर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को सौंपा ज्ञापन

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़ (खुशी राम ठाकुर) बरोट। छोटाभंगाल के मुल्थान में इंटक युनियन इकाई की बैठक जिला अध्यक्ष गुरदास राम सांख्यान की अध्यक्षता में संपन्न हुई। इस दौरान इंटक के छोटा व बड़ा भंगाल के महासचिव सुनील कुमार सहित लगभग पच्चास महिलाओं व पुरूषों ने भाग लिया। बैठक में देखा गया कि छोटाभंगाल की पंचायतों में कार्य करने वाले मजदूरों को विभिन्न समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। मजदूरों कि मांगों को लेकर इंटक यूनियन इकाई जिला अध्यक्ष गुरदास राम सांख्यान की अगुवाई में तहसीलदार मुल्थान पीसी कौंडल के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मांग की गई है कि भवन एवं संनिर्माण कल्याण बोर्ड में रजिस्टर कामगारों को बोशिंग मशीन, साईकल, हॉटकेस, वाटर फिल्टर, इंडक्शन चूल्हा, सोलर लाईट, लैंप, चार कम्बल, टिफिन व डिनर सेट की सुविधा चालू की जाए। मनरेगा में पहले की तरह 60 प्रतिशत पैसा मेटीरियल और 40 प्रतिशत पैसा लेबर का किया जाए। कोबिड- 19 के समय की कोरोना सहायता फंड की राशि दो–दो हज़ार की तीन किस्ते सभी मजदूरों को दी जाए। श्रर्म अधिनियम 1972के तहत जो मनरेगा मजदूर सप्ताह में छह दिन दिहाड़ी लगाता है तो उसे रविवार की छुट्टी के साथ मजदूरी भी दी जाए। उन्होंने मांग की है कि मनारेगा मज़दूरों की दिहाड़ी बढाकर 350 रूपए की जाए तथा साल में 200 दिन का रोजगार दिया जाए। श्रम बोर्ड से बच्चों के विवाह के लिए मिलने वाली राशि डेढ़ लाख तक की जाए और मजदूरों की आयु 60 वर्ष होने पर प्रतिमाह पेंशन 5 हज़ार रूपए दी जाए। यह भी मांग की है कि असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को भी पंजीकृत किया जाये और उन्हें सभी तरह की सुविधा दी जाए। मनरेगा की समस्याओं का हल करने के लिए तहसीलदार मुल्थान के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपते हुए इंटक के जिला अध्यक्ष गुरदास राम सांख्यान के साथ छोटाभंगाल घाटी के अन्य इंटक सदस्यों का फोटो भी भेज दिया गया है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *