देश भर में रिलीज हुई शकर पारे पंजाबी फ़िल्म में बरमाणा की नेहा दी है अपनी आवाज

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़

बिलासपुर, विजयराज उपाध्याय

ग्राम पंचायत बरमाना, बिलासपुर की नेहा ठाकुर ने हाल ही में पार्श्व गायकी में अपना पहला कदम रखा है। नेहा ठाकुर ने अपने करियर की शुरआत पंजाबी फिल्म शक्कर पारे के एक गाने महक तेरी से की है।  इस फिल्म का निर्देशन वरुण के खन्ना ने किया है जबकि फिल्म के निर्माता विष्णु के पोद्दार और पुनीत चावला है। गत दिवस पंजाबी फिल्म शक्कर पारे पूरे देश भर में रिलीज हुई है। नेहा ठाकुर ने प्रैस को बताया कि 4 अगस्त को चण्डीग़ढ़ में शक्कर पारे फिल्म का प्रीमियर हुआ जिसमे उन्होंने महक तेरी गाने को गाया है जोकि उनके लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है कि फिल्म के निर्देशक ने पंजाबी गायका की जगह हिमाचल से उन्हें चुना जोकि उसकी कामयाबी की पहली शुरुआत है। नेहा का कहना है कि फिल्म बहुत ही अति उत्कृष्ट और कॉमेडी, रोमांस, भावनात्मक और संदेशपूर्ण वाक्यों से भरपूर है। इस फिल्म को हम अपने परिवार के साथ बैठ कर भी देख सकते हैं। उल्लेखनीय है कि 19 वर्षीय नेहा ठाकुर सपुत्री माता सुनीता और पिता चमन ठाकुर ने डी ए वी बरमाणा से 12वी की परीक्षा पास कर जिला बिलासपुर विश्विद्यालय से संगीत में स्नातक की पढ़ाई कर रही है। नेहा का कहना है कि उनकी कामयाबी के पीछे उनके पिता का हाथ है जो बरमाणा रामलीला में अभिनय किया करते थे और वह रामलीला देखने जाया करती थी। उस वक़्त नेहा ने स्टेज पर पहली बार एक गाना गाया था जिसकी शुरुआत उनके पिता चमन ठाकुर ने करवाई थी। नेहा ने बताया कि संगीत की शुरुआत करवाने वाले उनकी गुरु शास्त्रीय संगीत की प्रोफेसर डॉ मीना वर्मा और डॉक्टर मोहन लाल शर्मा है जोकि शास्त्रीय संगीत के गुर सीखा रहे हैं। वहीं दक्षिण भारतीय पार्श्व गायका नंदिता ज्योति का भी उनको गायन की दुनिया में उभारने में बहुत सहयोग रहा है। उनका सपना है कि वह पंजाबी, पहाड़ी, हिंदी के साथ अन्य भाषा में भी गीत गाकर बहुमुखी प्रतिभा संपन्न गायका बने। नेहा ने संगीत प्रेमियों के लिए संदेश देते हुए कहा कि वह अच्छा म्यूजिक सुने क्यूंकि संगीत के बिना जीवन अधूरा सा प्रतीत होता है। संगीत हर किसी की पसंद होता  है। व्यक्ति संगीत को अपने मन की मनोदशा बदलने और आनंद के लिए सुनता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *