शत-प्रतिशत आबादी को 14 अगस्त तक वैक्सीनेट करने की तैयारियां पूरी-आशुतोष

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़ कुल्लू। उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने कहा कि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार जिला की शत-प्रतिशत आबादी को आगामी 14 अगस्त तक कोरोना वैक्सीन की पहली डोज के लक्ष्य को हर हालत में पूरा किया जाएगा। इस संबंध में उन्होंने वीडियो कान्फें्रसिंग के माध्यम से जिला टास्क फोर्स की बैठक की अध्यक्ष्ता करते हुए जिला के समस्त एसडीएम, खण्ड चिकित्सा अधिकारियों व खण्ड विकास अधिकारियों के साथ तैयारियों पर चर्चा की। आशुतोष गर्ग ने वैक्सीनेशन के लक्ष्य को हासिल करने के लिए सभी खण्ड चिकित्सा अधिकारियों से उनके द्वारा तैयार की गई कार्यनीति के बारे में जानकारी हासिल की। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन उप-केन्द्रों सहित समस्त स्वास्थ्य केन्द्रों में प्लान किया जाए। स्टाफ अथवा वैक्सीन को स्वास्थ्य केन्द्रों अथवा शिविर स्थलों तक पहुंचाने के लिए वाहनों अथवा अन्य प्रकार की सहायता की आवश्यकता हो तो इसके लिए संबंधित एसडीएम लाॅजिस्टिक प्रदान करेंगे। उन्होंने बीएमओ को वैक्सीनेशन सैशन प्लान करने को कहा। उपायुक्त ने कहा कि प्रदेश सरकार ने जिला के लिए कोरोना वैक्सीन प्रचुर मात्रा में उपलब्ध करवाई है और सभी पात्र व्यक्तियों को वैक्सीनेट किया जा सकता है। यह वैक्सीन सभी उपमण्डलों को उपलब्ध करवा दी गई है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग से आग्रह किया कि एक भी डोज वेस्ट नहीं होनी चाहिए। इस बावत भी जिला को आदर्श के तौर पर सामने लाने के प्रयास किये जाने चाहिए। उपायुक्त ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं तथा आशा वर्करों से अपील की कि वे गांव-गांव जाकर लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए जागरूक करें, तथा उन्हें स्वास्थ्य केन्द्र तक आने के लिए प्रेरित करें व मदद करें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को जिला की सभी सब्जी मण्डियों में जाकर लोगों की सैंपलिंग व वैक्सीनेशन करने को कहा। उन्होंने कहा कि जहां पर अधिक मजदूर काम पर लगे हैं, उस स्थल में मोबाईल वैन के माध्यम से वैक्सीनेशन किया जाना चाहिए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. सुशील चन्द्र ने उपायुक्त को जिला में वैक्सीनेशन के लक्ष्य को समय से पहले पूरा करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि जिला में पांच मेडिकल ब्लाॅक हैं और पांचों के लिए कार्यनीति तैयार कर ली गई है। उन्होंने यह भी अवगत करवाया कि गर्भवती महिलाओं का भी वैक्सीनेशन किया जाएगा। गर्भवती महिला को वैक्सीन केवल पीएचसी अथवा सीएचसी में डाॅक्टर की निगरानी में लगाई जाएगी। आशुतोष गर्ग ने कहा कि तीसरी लहर की आशंका के चलते जिला में सभी आवश्यक प्रबंध किये जा रहे है। उन्होंने जिला में पांचों समर्पित कोविड केयर केन्द्रों तथा समस्त टास्क फोर्स को सक्रिय बनाने को कहा। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को सैंपलिंग बढ़ाने को कहा। उन्होंने धार्मिक स्थलों में जहां अत्यधिक श्रद्धालु आ रहे हैं, वहां सैंपलिंग के लिए विशेष शिविर लगाने को कहा। उनहोंने कहा कि होम आइसोलेशन में कोरोना मरीज की निगरानी की जानी चाहिए। इसके लिए आशा वर्कर तथा चिकित्सक मरीज से बातचीत करते रहें और जरूरत पड़ने पर दवाईयां व अन्य मेडिकल चिकित्सा मरीज को प्रदान करें। अतिरिक्त उपायुक्त शिवम् प्रताप सिंह ने एसडीएम व खण्ड विकास व खण्ड चिकित्सा अधिकारियों से वैक्सीनेशन के लक्ष्य को हासिल करने के संबंध में बातचीत की और बहुमूल्य सुझाव दिए। उन्होंने खण्ड विकास अधिकारियों से कहा कि वे पंचायती राज संस्थानों के माध्यम से ऐसे व्यक्तियों की सूची बना लें जो बिस्तर पर हैं और इन व्यक्तियों को स्वास्थ्य केन्द्र तक लाने में सहयोग करें ताकि वाहन के अंदर ही इन्हें वैक्सीन प्रदान की जा सके। इसके अलावा, पंचायती राज संस्थानों के प्रतिनिधियों के सोशल ग्रुप में भी वैक्सीनेशन से संबंधित जानकारी अपलोड की जाए। एसडीएम विकास शुक्ला, वैक्सीनेशन के नोडल अधिकारी डाॅ. अतुल गुप्ता सहित अन्य अधिकारी बैठक में उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *