बर्फबारी के दौरान सम्पर्क मार्गों की तुरंत बहाली के प्रबंध करें लोक निर्माण-आशुतोष गर्ग

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़ कुल्लू। जिला के ऊपरी भागों में सर्दियों के दौरान बर्फबारी के कारण सम्पर्क सड़कें बंद होने की आशंका बनी रहती है। लोक निर्माण विभाग के इंजीनियरों को इन मार्गों को तुरंत बहाल करने के लिए पर्याप्त श्रम शक्ति व मशीनरी को अभी से तैनाती सुनिश्चित करनी होगी। यह बात उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने सर्द ऋतु के दौरान किये जाने वाले आवश्यक प्रबंधों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। उन्होंने  पुलिस के अधिकारियों से कहा कि अटल टनल रोहतांग तक का मार्ग हर समय खुला रखने के प्रयास करें। सोलांग में बचाव चौकी स्थापित करने को कहा गया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संकट के चलते यह और भी अधिक जरूरी हो गया है कि सुरंग तक का मार्ग हर समय खुला रहे ताकि आपातकाल की स्थिति में मरीजों को लाहौल से कुल्लू अथवा मण्डी लाने में किसी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पड़े। उन्होंने आश्वासन दिया कि सुरंग तक के मार्ग को बहाल रखने के हर संभव प्रयास किए जाएंगे। उपायुक्त ने लोक निर्माण विभाग को निर्देश दिए कि जिला के संवेदनशील मार्गों में जहां अधिक बर्फबारी होती है, जेसीबी, स्नो कटर अथवा डोजर की तैनाती की जानी चाहिए। लोगों को आवागमन की सुविधा अधिक देर तक प्रभावित नहीं रहनी चाहिए।

इसी प्रकार, उपायुक्त ने जल शक्ति विभाग को पाईप लाईनों की अच्छे से जांच करने को कहा ताकि ठंड में इनमें पानी न जम सके। ऐसे स्थलों पर जहां अधिक बर्फ पड़ती है, पाईप लाईनों को जमीन के नीचे दबाना सुनिश्चित करें। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर स्कूलों में यदि कोई बच्चा सर्दी, जुकाम से पीड़ित पाया जाता है तो उसे तुंरत आईसोलेट कर पांच दिन तक छुटटी दी जाएगी। सभी उपमंडलाधिकारी अपने-2 उपमंडल में अत्यधिक बर्फबारी होने पर आवासहीन या सुरक्षित जगह पर लोगों को ले जाने हेतु राहत व शैल्टर प्रदान करेंगे। आशुतोष गर्ग ने विद्युत विभाग के अभियंताओं को निर्देश दिए कि बिजली आपूर्ति में व्यवधान नहीं आना चाहिए, इससे आम जनता को बड़ी परेशानी होती है। उन्होंने कहा कि विद्युत लाईनों को समय रहते चैक कर लें। उपायुक्त ने पशु पालन विभाग को निर्देश दिए कि सर्दियों के दौरान गौवंश सड़कों पर नजर नहीं आना चाहिए। अत्यधिक ठंड के कारण गौवंश की जान को खतरा उत्पन्न हो जाता है। उन्होंने कहा कि गौसदनों में सभी गोवंश को टैग लगाए जाने चाहिए। सभी घरों में जहां भी गाय हैं उन्हें भी टैग किया जाना चाहिए ताकि कोई भी व्यक्ति यदि गाय को सड़क पर बे-सहारा छोड़े तो उसके विरूद्ध कारवाई की जा सके। उपायुक्त ने अधिकारियों से कहा कि हर समय अपना मोबाईल ऑन रखें और एटेण्ड करें, अन्यथा डीडीएमए एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि टॉल फ्री नम्बर 1077 पर स्टाफ एकदम से सक्रिय होना चाहिए। आपातकाल का यह नम्बर काफी महत्वपूर्ण है और इसे हर समय एटेण्ड किया जाना चाहिए। सभी विभाग अपने नोडल अधिकारी नियुक्त करें तथा उनके नाम, पद  तथा मोबाईल नम्बर शीघ्र जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण कुल्लू को उपलब्ध करवाएं। उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से दवाईयों की प्रचुर उपलब्धता सुनिश्चित बनाने को कहा ताकि सर्दियों में उपरी क्षेत्रों में किसी प्रकार की दिक्कत दवाईयों को लेकर न आए। इसी प्रकार जिला खाद्य एवं आपूति नियंत्रक से राशन का अतिरिक्त कोटा व स्टॉक रखने के भी निर्देश दिए गए। होम गार्ड के जवानों की सूची तैयार रखने को कहा जो आपात के दौरान तुरंत से सेवाओं के लिए तत्पर रहे। मनाली तथा शाड़ाबाई के लिए होम गार्डस की एक टीम गठित करने को भी कहा गया। किसी भी प्रकार की आपदा से निपटने को लेकर सभी विभाग समय पर अपने वाहनों की मैकेनिकल मुरम्मत तथा डीजल इत्यादि का भंडारण सुनिश्चित करें। किसी भी आपात स्थिति में डीईओसी के टोल फ्री नम्बर 1077 पर सूचित करें। बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 सुशील चंद्र शर्मा, अधिशाषी अभियंता लोक निर्माण विभाग विनय हाजरी के अतिरिक्त अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *