10 व 11 दिसम्बर को होगी देवसदन व कलाकेंद्र में जिला दल चयन प्रतियोगिता

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़ कुल्लू। जिला युवा सेवा एवं खेल अधिकारी कुल्लू दीप्ती वैद्य ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला युवा सेवा एवं खेल विभाग द्वारा प्रदेश की युवा प्रतिभा को विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों में राष्ट्रीय स्तर तक प्रतिभागिता का अवसर प्रदान किया जाता है। इसी कड़ी में राज्य युवा उत्सव में प्रतिभागिता हेतु विभिन्न विधाओं लोक गीत, लोक नृत्य, एकांकी, तबला वादन, बांसुरी वादन, सितार बादन, हारमोनियम लाईट, शास्त्रीय संगीत( हिंदुस्तानी), कत्थक, एलोक्यूशन एक्सटैम्पोर तथा लोक वाद्य वादन में जिला दल के चयन हेतु 10 तथा 11 दिसम्बर, 2021 को कला केन्द्र/ अटल सदन तथा देवसदन कुल्लू में युवा उत्सव का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि एकांकी, तबला वादन, बांसुरी वादन, सितार वादन, हारमोनियम लाईट, शास्त्रीय संगीत( हिंदुस्तानी), कत्थक, एलोक्यूशन एक्सटैम्पोर विधाओं का आयोजन 10 दिसम्बर, 2021 को सायं 4 बजे से देवसदन में तथा लोक संस्कृति से जुड़ी विधाओं लोक गीत, लोक नृत्य तथा लोक वाद्य वादन की प्रतियोगिताओं का आयोजन 11 दिसम्बर, 2021 को प्रातः 10 बजे से कला केन्द्र/ अटल सदन में किया जाएगा। उन्होंने बताया कि विकास खंड स्तर पर विजेता/गत वर्ष के जिला स्तरीय प्रतियोगिता विजेता दल सहित प्रतियोगिता हेतु आमन्त्रित हैं। एकांकी व शास्त्रीय गीत-संगीत की विधाओं में ऐसे दल अपनी प्रविष्टियां 9 दिसम्बर, 2021 सायं 5 बजे तक जिला युवा सेवा एवं खेल विभाग कुल्लू के कार्यालय में अवश्य करवाकर अपनी प्रतिभागिता की पुष्टि करवाएं। इसी प्रकार खंड स्तर पर लोक गीत तथा लोक नृत्य विधाओं में जो दल जिला के लिए चयेिनत हुआ है वह दल भी 9 दिसम्बर, 2021 को सायं ढालपुर कुल्लू में पहुंचना सुनिश्चित करे तथा इससे पहले यानी 8 दिसम्बर, 2021 तक जिला युवा सेवा एवं खेल विभाग कुल्लू के कार्यालय में अपनी प्रतिभागिता की पुष्टि भी करें। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा प्रतिभागियों को प्रतियोगिता स्थल तक आने जाने का किराया व दैनिक भत्ता वहन किया जाएगा। प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले दल/ प्रतिभागी को जिला दल का प्रतिनिधित्व राज्य स्तरीय युवा उत्सव में करने का सुअवसर दिया जाएगा। लोक गीत, लोक नृत्य तथा लोक वाद्य वादन विधाओं हेतु हिमाचली लोक संस्कृति पर आधारित व खंड स्तर पर चयनित दलों एवं गत वर्ष के प्रथम स्थान प्राप्त दलों को प्रविष्टि दी जाएगी। मंच पर सहयोगी वादक के अतिरिक्त सभी प्रतिभागियों के लिए आयु सीमा 15 से 29 वर्ष के बीच होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि  लोक गीत विधा में अधिकतम प्रतिभागी 10 होंगे तथा इसके लिए अधिकतम अवधि 7 मिनट रहेगी। इसी प्रकार लोक नृत्य विधा के लिए अधिकतम प्रतिभागी 20, अधिकतम समय सीमा 15 मिनट, एकांकी के लिए अधिकतम प्रतिभागी 10, समयावधि 45 मिनट, तबला वादन, बांसुरी वादन, सितार वादन के लिए अधिकतम समयावधि 15 मिनट, हारमोनियम लाईट  के लिए 10 मिनट, शास्त्रीय संगीत( हिंदुस्तानी), कत्थक के लिए अधिकतम अवधि 15 मिनट, एलोक्यूशन एक्सटैम्पोर के लिए 4 मिनट तथा लोक वाद्य वादन के लिए अधिकतम प्रतिभागी 8 तथा समयावधि 10 मिनट रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *