प्राकृतिक खेती कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ इंटरनेट माध्यम से जुड़ें पहाड़ों के हजारों किसान

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़ (परस राम भारती) बंजार। हिमाचल प्रदेश में आज पहाड़ों के हजारों किसान इंटरनेट/दूरदर्शन के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ शून्य लागत प्राकृतिक खेती कार्यक्रम से जुड़े। हर जिला एवं खण्ड स्तर पर इसके लिए परियोजना निदेशक आत्मा द्वारा हर ग्राम पंचायत से 20 किसानों को इंटरनेट द्वारा इस कार्यकर्म में लाइव जोड़ा गया। इसी कड़ी में जिला कुल्लू के उपमण्डल बंजार में भी सभी पंचायतों के प्रगतिशील किसानों, पंचायत जनप्रतिनिधियों प्रधानों, उप-प्रधानों, पंचायत समिति सदस्यों, वॉर्ड पंचों और अन्य विभागीय कर्मचारियों ने भी इस कार्यक्रम में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। इसके अलावा अन्य लोगों ने इस कार्यक्रम को यू टयूबऔर दूरदर्शन के माध्यम से भी देखा है। उपमण्डल बंजार में तीर्थन घाटी की हर ग्राम पंचायत में आज प्रातः11 बजे से लेकर दोपहर दो बजे तक स्थानीय किसानों एवं बागवानों के लिए इस कार्यक्रम को दिखाने के लिए विशेष व्यवस्था की गई थी। जिसमें किसानों बागवानों सहित घाटी की स्थानीय महिलाओ में खासा उत्साह देखने को मिला है। इस कार्यक्रम के माध्यम से लोगों ने जाना कि कैसे देसी गाय के गोबर और गोमूत्र से बिना किसी खास लागत के प्राकृतिक खेती की जा सकती है। वरिष्ठ पत्रकार, पर्यावरण प्रेमी एवं प्राकृतिक खेती प्रशिक्षक दौलत भारती ने कहा कि जहर मुक्त देसी गाय के गोबर और गोमूत्र पर आधारित प्राकृतिक खेती से किसानों और बागवानों को फायदा तो होगा ही इसके साथ ही यह खेती पर्यावरण संरक्षण की दिशा में एक अच्छा कदम है। इन्होंने कहा कि अगर समुची तीर्थन घाटी के किसान बागवान शून्य लागत प्राकृतिक खेती की इस तकनीक को अपनाते तो यहां के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा जिसका लाभ यहां के हर व्यक्ति को मिलेगा।

जिला चम्बा के 4768 किसानों ने प्राकृतिक कृषि राष्ट्रीय सम्मेलन में वर्चुअल माध्यम से जताई अपनी उपस्थिति-
परियोजना निदेशक आतमा 
सुरभि न्यूज़ चंबा। देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ जिसमें जिला चम्बा की 233 पंचायतो के 4768 कृषको ने वर्चुअल माध्यम से प्रधान मंत्री के प्राकृतिक खेती पर सम्बोधन को सुना। इस में कम से कम 20 कृषक प्रति पचांयत को कार्यक्रम से जोडा गया। इस कार्यक्रम में चम्बा की 39 पंचायतों के 802 किसान , खण्ड भटियात की 66 पंचायतों के 1353 कृषक , खण्ड मैहला की 38 पंचायतों के 776 कृषक , खण्ड सलूणी की 42 पंचायतों के 862 कृषक , खण्ड तीसा की 34 पंचायतों के 686 कृषक और खण्ड भरमौर की 14 पंचायतों के 289 कृषकों ने भाग लिया। सम्मेलन के दौरान महामहिम राज्यपाल गुजरात आर्चाय देवव्रत ने प्राकृतिक खेती की उपलब्धियां, लाभ, अपने अनुभव और विचारों को साझा किया। देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने प्राकृतिक खेती की प्रासंगिता पर देश भर के किसानों को संबोधित किया । संगोष्ठी के दौरान देश भर में प्राकृतिक खेती बढाने हेतु बल दिया गया। इस तरह के राष्ट्रीय आयोजन प्राकृतिक खेती को अपनाने की दिशा में फलदाईक साबित होंगे। परियोजना  निदेशक ने बताया कि हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना  की पद्धति  को देश भर से लागू किया जा रहा उन्होंने यह भी  बताया कि  जिला चम्बा में लगभग 1400 है0 क्षेत्र को प्राकृतिक खेती के अर्तंगत लाया गया है जिसके सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहे है निश्चित रूप से जिला में चलाये जा रहे प्राकृतिक खेती अभियान को इससे बल मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *