विकलांगता शिविरों में 163 दिव्यांगजनों ने करवाया पंजीकरण

इस खबर को सुनें

पूजा ठाकुर कुल्लू। उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने कहा कि जिला रेडक्रॉस कुल्लू द्वारा संचालित जिला विकलांगता पुनर्वास केन्द्र कुल्लू ने विभिन्न भागों में दिव्यांगजनों के पुनर्वास हेतु शिविरों का आयोजन किया। शिविरों का आयोजन कुल्लू विकास खण्ड की भूलंग, नग्गर की हुरंग, बंजार की नोहांडा व पेखरी, निरमण्ड की ब्रो, तुनन व जगातखाना तथा आनी विकास खण्ड की दलाश, डिंगीधार, बैहना, बयुगल व तलुना पंचायतों में किया गया। उपायुक्त ने कहा कि इन शिविरों मं कुल 163 दिव्यांगजनों का पंजीकरण किया गया। इनमें से 30 दिवयांगजनों को विभिन्न प्रकार के सहायता उपकरण वितरित किये गए। 99 दिव्यांगजनों को पहले ही विकलांगता का आंकलन होने के उपरांत विकलांगता प्रमाण पत्र जारी हो चुके हैं जबकि 57 ऐसे व्यक्तियों को विकलांगता आंकलन के लिये चिन्हित किया गया है तथा उन्हें माह के अंतिम शनिवार को मेडिकल बोर्ड के समक्ष प्रस्तु होकर विकलांगता की जांच करवाने को कहा गया है। इसके अतिरिक्त 52 दव्यक्त्यिों को सुने की समस्या आ रही थी जिनका मौक पर ऑडीओमिटरी द्वारा आंकलन किया गया और 28 व्यक्तियों में सुनने की क्षमता सही पाई गई जबकि 25 व्यक्तियों को ई.एन.टी. विशेषज्ञ को रैफर किया गया। मौके पर नौ व्यक्तियों को सुनने की मशीन लगाने के मामले तैयार किये गये। शिविर में 40 दिव्यांगजनों को व्हीलचेयर, चलने हेतु छड़ियां, सेनने की मशीनें, स्मार्ट कने, एल्बो क्रेचिज तथा एक्सेला क्रेचिज के लिये चिनिहत करकेक उनके मामले मौके पर तैयार किये गए। साथ ही चार छात्रों को छात्रवृति, चार दिव्यांगजनों को विभिन्न प्रशिक्षण, चार दिव्यांजनों को लीगल गार्डियन व एक दिव्यांगजन का पेंशन का मामला भी तैयार किया गया। आशुतोष गर्ग ने कहा कि शिविरों के दौरान तहसील कल्याण अधिकारी, स्थानीय ग्राम पंचायत प्रधानों व आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा प्रदेश सरकार द्वारा विकलांगजनों के लिये कार्यान्वित की जा रही विभिन्न योजनाओंु व कार्यक्रमों की विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान की गई। उन्हें स्वंय रोजगार स्थापित करने के लिये उपलब्ध विभिन्न प्रशिक्षण तथा ऋण कार्यक्रमों की भी जानकारी दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *