देव सदन में पुजारियों को देनी होगी ऑफिस व पुस्तकालय के लिए जगह

इस खबर को सुनें
सुरभि न्यूज़ कुल्लू। होली उत्सव के कारण पुजारी कल्याण संघ की बैठक अब 17 के बजाय 19 मार्च को होगी। पुजारी कल्याण संघ ने अब चेतावनी दी है कि यह बैठक सरकार व प्रशासन द्वारा पुजारियों के साथ किए जा रहे भेदभाव को लेकर हो रही है। पुजारी कल्याण संघ के अध्यक्ष धनीराम चौहान ने कहा है कि सरकार व प्रशासन की देव समाज के प्रति संवेदनशील नहीं है। उन्होंने कहा कि देव सदन देव जिस उद्देश्य से बनाया गया था वहां अब उस उद्देश्य की पूर्ति नहीं हो रही है और देव सदन को अब कमाई का साधन बना दिया गया है। उल्लेखनीय है कि देव सदन देव समाज व देवलुओं के लिए बनाया गया है लेकिन हैरानी इस बात की है कि देव समाज का अहम अंग पुजारियों को यहां बैठने तक की अनुमति नहीं है। देव सदन में  कारदारों व चेरिटेबल को ऑफिस दिए गए हैं परंतु पुजारियों को देव सदन में कोई भी सुविधा नहीं दी जा रही है। जब भी पुजारियों का कोई आयोजन होता है तो उनसे 5000 रुपए शुल्क के रूप में दिया जाता है। उन्होंने कहा कि पुजारी देव समाज का हिस्सा है। पुजारी के बीना देव समाज का कोई भी कार्य नहीं चल सकता है। पुजारी सुवह उठकर देवता को जगाता है और उसी के बाद देव समाज की दिनचर्या शुरू होती है लेकिन यहां देवसदन में पुजारियों के साथ भेदभाव कर रहा है। उन्होंने कहा कि कई बार जिला प्रशासन, भाषा विभाग व भाषा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर व मुख्यमंत्री से मांग की गई है कि उन्हें देव सदन में कार्यालय दिया जाए और देव संग्रालय के लिए जगह दी जाए लेकिन सरकार खामोश है।  उन्होंने कहा है कि पुजारियों की मांगों पर गौर नहीं किया गया तो उन्हें दूसरा रास्ता अपनाना पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *