मुख्यडाकघर कुल्लू में 9 अक्टूबर को विश्व डाक दिवस मनाया गया

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़ ब्यूरो

कुल्लू

मुख्य डाकघर कुल्लू में भारतीय डाक विभाग द्वारा 9 अक्टूबर को विश्व डाक दिवस मनाया गया। डाकपाल  ने जानकारी देते हुए बताया कि  9 अक्तूबर 1874 को युनिवर्सल पोस्टल यूनियन का गठन करने के लिए स्विटजरलैंड की राजधानी बर्न में 21 देशों ने एक समझोते पर हस्ताक्षर किए थे।

जापान के टोकियो शहर में 1969 को आयोजित डाक सम्मेलन में विश्व डाक दिवस के रूप में 9 अक्टूबर 19 69 को चयन किए जाने की घोषणा की गई।

भारत में पहला डाकघर 1874 कोलकाता में स्थापित किया गया था तथा मनी ऑर्डर सिस्टम की शुरूआत 1880 में हुई थी जबकि स्पीड पोस्ट की शुरुआत 1986 में की गई थी।

डाकपाल ने बताया कि विश्व डाक दिवस मनाने का उद्देश्य लोगों को और व्यवसायों के बीच डाक विभाग की भूमिका और देशों की सामाजिक और आर्थिक विकास में इसके योगदान के प्रति जागरूकता फैलाना है।

भारत में राष्ट्रीय स्तर पर अपनी भूमिका और गतिविधियों को प्रसारित करने के लिए डाक विभाग विभिन्न योजनाओं के साथ राष्ट्रीय डाक सप्ताह मनाता है। इस दौरान सभी डाकघर , मेल कार्यालय और प्रशासनिक कार्यालय की सफाई और साज-सज्जा का काम किया जाएगा।

पुरानी होल्डिंग और नोटिस को हटाने और पुराने रिकॉर्ड को बाहर निकालने का काम किया जाएगा। आधार नामांकन और अपडेशन सुविधा, सीएससी सुविधाएं, इंडिया पोस्ट पीआरएस सेंटर, गंगाजल उपलब्ध कराने सहित कई सुविधाएं भी दी जाएंगी।

डाक बीमा दिवस के दिन डाक जीवन बीमा क्लेम सेटलमेंट को भी प्राथमिकता दी जाए ताकि डाक जीवन बीमा दिवस तक लंबित पड़े दावों के निपटारे को कम किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *