तीर्थन घाटी के भींडी थाच स्टेडियम 8700 फुट की ऊंचाई पर 7 अप्रैल से होगा शहीद लगन चंद मेमोरियल क्रिकेट कप का आगाज

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़

परस राम भारती, गुशैनी, 28 मार्च

जिला कुल्लू उपमंडल बंजार की तीर्थन घाटी की दूर दराज ग्राम पंचायत शिल्ली के सैनिक लगन चन्द ने वर्ष 2020 में राजस्थान के बीकानेर में अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए शाहदत पाई थी। उसी दौरान यहां के स्थानीय लोगों व खेलकूद एवं पर्यटन विकास समिति शिल्ही ने गरूली गांव के शहीद सैनिक लगन चंद की याद में हर वर्ष अप्रैल माह में क्रिकेट प्रतियोगिता के आयोजन करने का फैसला लिया था। गत 3 वर्षो की भांति अब चौथी बार 7 अप्रैल से 8700 फुट ऊंचाई पर स्थित तीर्थन घाटी के खुबसूरत स्थल भिंडी थाच में इस अनोखी क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन होगा। यह क्रिकेट प्रतियोगिता “शहीद लगन चंद मेमोरियल कप” के नाम से जानी जाती है।

गौरतलब है कि तीर्थन घाटी की दूरदराज ग्राम पंचायत शिल्ली का अधिकतर क्षेत्र अभी तक सड़क सुविधा से वंचित है। यहां के ऊंचे पहाड़ों पर गांव गरूली तथा परवाड़ी के समीप घने जंगलों से घिरा एक विशाल खूबसूरत मैदान है जिसको “भिंडी थाच” नाम से जाना जाता है। यहां तक सड़क मार्ग से करीब एक घंटे की ट्रैकिंग करने के बाद ही पहुंचा जा सकता है। स्थानीय लोगों ने शहीद लगन चन्द की यादों को संजोए रखने के लिए हर वर्ष इस मैदान में मेमोरियल क्रिकेट कप प्रतियोगिता के आयोजन का निर्णय लिया हुआ है।

7 अप्रैल से तीर्थन के पहाड़ों पर ट्रैकिंग के बाद होने वाली इस प्रतियोगिता को लेकर यहां के स्थानीय लोगों में भारी उत्साह देखने को मिलता है। शिल्ली पंचायत के गरूली और परवाड़ी गांव की खेलकूद एवं पर्यटन विकास समिति से जुड़े युवक और महिला मण्डल के लोग भिंडी थाच की साफ सफाई में जुट गए हैं। अब यह मैदान यहां पर आने वाले खिलाड़ियों और अन्य अतिथियों के स्वागत के लिए तैयार हो चुका है।

खेलकूद एवं पर्यटन विकास समिति के अध्यक्ष मुरारी कायथ, उपाध्यक्ष रणजीत सिंह, सचिव केहर सिंह, कोषाध्यक्ष खेम राज आदि ने बताया कि गरूली गांव के युवा सैनिक शहीद लगन चन्द की स्मृति में उनके शहीदी दिवस 7 अप्रैल से ही इस प्रतियोगिता का शुभारंभ होता है। इन्होंने बतलाया कि प्रतियोगिता के आयोजन को लेकर लगभग सभी तैयारियां पूर्ण हो चुकी है और इसमें हिस्सा लेने वाली टीमों से आवेदन मांगे गए हैं। इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए कुछ नियम और शर्तें भी तय की गई और टीमों का पंजिकरण शुरू हो चुका है। इसके लिए पंजीकरण की अन्तिम तारीख 31 मार्च रखी गई है।

अध्यक्ष मुरारी कायथ ने बतलाया कि इस
प्रतियोगिता के दौरान खिलाड़ियों की सुविधा के लिए खाने व ठहरने का इंतजाम समिति द्वारा पहले से और बेहतर किया गया है, जिसमें ठहराव निःशुल्क रहेगा और खाने का प्रति व्यक्ति ज़ायज शुल्क लिया जाएगा। इसके अलावा यहां पर आने वाले खिलाड़ियों, आगंतुकों को खाने पीने के लिए टी स्टॉल, सिडडू, कॉर्नर और अन्य स्थानीय पारम्परिक व्यंजनों के स्टॉल भी लगेंगे।

समिति के सचिव केहर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रतियोगिता स्थल पर नशीले पदार्थों पर पहले की भांति ही प्रतिबंध है, यदि किसी टीम का कोई खिलाड़ी नशीले पदार्थों बीड़ी,-सिगरेट, शराब, गुटखा, तंबाकू या अन्य मादक पदार्थ आदि का सेवन करता हुआ पाया गया तो उस टीम को ही प्रतियोगिता से बाहर कर दिया जाएगा l

इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए इस बार प्रवेश शुल्क मात्र 5500/-रुपये रखा गया है। विजेता टीम को प्रथम पुरस्कार के रूप में 1,11,111 रुपये नगद और ट्रॉफी तथा उपविजेता टीम को 55,555 रुपये नगद और ट्रोफी और सेमी फाइनल तक पहुंचने वाली टीमों को 11000/- रुपए नगद प्रदान किये जाएंगे। इस प्रतियोगिता में हिस्सा ले रहे खिलाडियों को श्रृंखला में मैन ऑफ द टूर्नामेंट, बेस्ट बैट्समैन, बेस्ट गेंदबाज, बेस्ट विकेट कीपर को भी अन्य कई आकर्षक पुरस्कार और उपहार दिए जाएंगे।

प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाली टीमों को पंजीकरण करने के लिए खेलकूद एवं पर्यटन विकास समिति के खाते पर या QR कोड के माध्यम से स्कैन करके एक हजार रूपए की अग्रिम राशि जमा करनी होगी तभी टीम का पंजीकरण मान्य होगा। पेमेंट की रसीद, पंजिकरण की सुचना, पूल संख्या और मैच की तिथि के बारे हर टीम को व्हाट्सएप नम्बर पर सुचना दी जाएगी। इन्होंने बतलाया कि अधिक जानकारी के लिए फोन और व्हाट्सएप नम्बर 62304-21630 पर भी सम्पर्क किया जा सकता है।

इन्होंने बतलाया कि इस प्रतियोगिता के सफल आयोजन हेतु पर्यटन व्यवसाय और अन्य संस्थानों से जुड़े लोग बतौर प्रायजोक आमन्त्रित है। खेल मैदान से बैनर और होर्डिंग्स के माध्यम से प्रायोजक अपने अपने कारोबार का प्रचार प्रसार कर सकते है। यदि कोई भी व्यक्ति या संस्था इस प्रतियोगिता को स्पॉन्सर करना चाहते हो तो खेलकुद एवं पर्यटन विकास समिति से सीधे तौर पर सम्पर्क करें और अपनी सहयोग राशि ऑनलाइन समिति के खाते में जमा कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *