उपायुक्त एवं अध्यक्ष जिला आपदा प्रबंधन अभिकरण कुल्लू तोरुल एस रवीश ने आगामी मानसून मौसम की तैयारियों को लेकर की बैठक 

इस खबर को सुनें
सुरभि न्यूज़ ब्यूरो
कुल्लू, 6 जून
उपायुक्त एवं अध्यक्ष जिला आपदा प्रबंधन अभिकरण कुल्लू, तोरुल  एस रवीश ने आज आगामी मानसून मौसम की तैयारियों को लेकर एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए समस्त विभागों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।
उपायुक्त ने मानसून के दौरान आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए सभी विभागों को आवश्यक कदम उठाने के दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि वर्षा ऋतु के आने से पहले सभी ड्रेन तथा जल प्रवाह के चैनल को साफ करने के लिए तत्परता से कार्य  करें। उन्होंने लोक निर्माण, पंचायती राज संस्थान, नगर परिषद, एनएचएआई के अधिकारियों को इस संबंध में कार्य करके 20 जून तक रिपोर्ट प्रेषित कर सूचित करने के निर्देश दिए।
उपायुक्त ने अर्ली वार्निंग सिस्टम को मानसून के दौरान विशेष रूप से प्रभावी एवं मजबूत बनाने के लिए तथा बांधों से नियमानुसार पानी छोड़ने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसी आपदा को प्रभावित रूप से निपटने के लिए  सचेत एप  जैसे  पटलो को  भी मजबूत बनाना सुनिश्चित करें इसके साथ-साथ ही मौसम विभाग की एडवाइजरी तथा बांध सुरक्षा के सभी नियमों के अनुसार कार्य करना सुनिश्चित करें ।
उन्होंने आपदा संभावित क्षेत्रों को समय रहते  चिन्हित करने तथा बाढ़, भूस्खलन इत्यादि संभावित आबादी वाले क्षेत्रों को खाली करने की तैयारी रखने के भी निर्देश दिए। उन्होंने  हिमाचल पथ परिवहन निगम को आवश्यक ईंधन का पूरा भंडारण, स्वास्थ्य विभाग को आवश्यक दवाइयां तथा सर्पदंश के इंजेक्शन पर्याप्त मात्रा में  भंडारण रखने के भी निर्देश दिए। उन्होंने उपभोक्ता  एवं नागरिक आपूर्ति विभाग को आवश्यक ईंधन, रसोई गैस तथा राशन का भडारण  समय रहते करने के भी निर्देश दिए।
उपायुक्त ने सेना, अर्ध सैन्य बलों, वायु सेना  के साथ समन्वय स्थापित करने तथा आपदा मित्रों के साथ समन्वय तथा पूर्व अभ्यास करके आपदा के समय के लिए तैयार करने को कहा। उन्होंने कहा कि जिला में एक एनडीआरएफ की टीम की  तैनाती की जाएगी। उपायुक्त ने सभी सम्बंधित विभागों को निर्देश दिए कि जिला आपदा प्रबंधन योजना को अच्छी तरीके से समझ लें ताकि आपदा के समय समन्वय से आपदा प्रबंधन की  प्रक्रिया को तेज़ी से संचालित किया जा सके। इसके लिए मानसून के दौरान उप मंडल स्तर पर एक इमरजेंसी ऑपरेशन केंद्र स्थापित किया जाएगा जो 24 घंटे, सप्ताह में सातों दिन क्रियाशील रहेगा।
उपायुक्त ने जल शक्ति विभाग को सभी जल भंडारण टैंकों की  की सफाई करके,  स्वच्छ पेयजल की  व्यवस्था सुनिश्चित बनाने के निर्देश दिए ताकि इस दौरान जल जनित रोगों से बचा जा सके। उपायुक्त ने  वर्ष 2023 के दौरान मानसून से प्रभावित हुए गांवों  पर विशेष नजर रखने के निर्देश दिए तथा जोखिम की स्थिति में शीघ्रता से इन स्थान को खाली करने के लिए तैयार रहने भी निर्देश दिए।
उपायुक्त ने सभी विभागों को विभाग क्षति एवं हानि की रिपोर्ट त्वरित रूप से देने के लिए ऑनलाइन रिपोर्टिंग टूल्स का प्रयोग करने के भी निर्देश दिए ताकि समय रहते इन घटनाओं को रिपोर्ट किया जा सके।
उपायुक्त ने भारतीय आपदा संसाधन नेटवर्क को भी अद्यतन करने के सभी को निर्देश दिए ताकि आपदा के समय में आवश्यक संसाधनों को जुटाने के लिए  सुगमता से समन्वय स्थापित किया जा सके। उन्होंने  जिले में उपलब्ध  आ-ई सेट तथा वी-सेट को भी इसके लिए तैयार रखने के निर्देश दिए ताकि आपदा के समय सूचना के आदान-प्रदान को सुनिश्चित बनाया जा सके।
बैठक का संचालन अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी अश्वनी कुमार ने किया। बैठक में एसडीएम कुल्लू विकास शुक्ला, एसडीएम बंजार पंकज शर्मा, एसडीएम  मनाली रमन शर्मा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *