विशेष रूप से सक्षम बच्चे समाज का अभिन्न हिस्सा, उन्नति में भी है इनका योगदान-आशुतोष गर्ग

इस खबर को सुनें
सुरभि न्यूज़ कुल्लू। विश्व दिव्यांग दिवस का आयोजन सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग कुल्लू द्वारा अटल सदन के सभागार में जिला स्तरीय मनाया गया जिसमें उपायुक्त आशुतोष गर्ग बतौर मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया। उपायुक्त ने कहा कि विश्व दिव्यांग दिवस के आयोजन का मुख्य उद्देश्य दिव्यांगजनों के प्रति प्रेम, सौहार्दपूर्ण वातावरण तैयार करना तथा उनके उत्थान के लिए अपना योगदान देना है ताकि उन्हें समाज में विकास की मुख्यधारा से जोड़ा जाए और कहीं पर भी वे स्वयं को अकेला महसूस न करें। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा विभिन्न विभागों के माध्यम से दिव्यांगजनों के लिए अनेकों कल्याणकारी योजनाओं कार्यान्वित की जा जा रही हैं तथा इस संदर्भ में सरकारी विभागों के साथ जिला में विभिन्न स्वंय सेवी संस्थाएं बेहतरीन कार्य कर रही हैं।
उन्होंने कहा कि अभी भी दिव्यांगजनों के लिए बहुत कुछ कार्य करने की आवश्यकता है। आज का दिन दिव्यांगजनों के लिए समर्पित है तथा आत्म विश्लेशण करने का है कि हम दिव्यांगजनों के उत्थान के लिए अपना योगदान दे सकें।  इस अवसर पर जिला कल्याण अधिकारी समीर चंद ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा उन्हें शॉल व मफलर भेंट कर सम्मानित किया। उन्होंने विभाग द्वारा दिव्यांग जनों के लिए चलाई जा रही विभिन्न प्रकार की कल्याणकारी योजनाओं की विस्तार से जानकारी प्रदान की। उन्होंने दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम, 2016 के तहत विभिन्न पहलुओं की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पहले दिव्यांगजनों को सात प्रकार की दिव्यांगता को चिन्हित किया गया था, लेकिन अब 21 प्रकार की दिव्यांगता को इस अध्ेिानियम के तहत कवर किया जा रहा है। सरकार द्वारा अलग-अलग योजनाओं के तहत सहायता प्रदान की जा रही है। दिव्यांगजनों के लिए समानता तथा गैर भेदभाव के अधिकार को बनाया गया है। स्कूलों तथा सरकारी भवनों में दिव्यांगजनों के लिए बाधा रहित सुविधाएं बनाई गई हैं। दिव्यांगजनों के लिए सरकारी नौकरियों में आरक्षण 3 प्रतिशत से बढ़ाकर 4 प्रतिशत किया गया है। उच्च शिक्षा में दाखिला हेतु 5 प्रतिशत  आरक्षण तथा विभिन्न प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए 5 वर्ष आयु में छूट का प्रावधान किया गया है। सामाजिक सुरक्षा के क्षेत्र में भी दिव्यांगजनों के लिए पैंशन प्रदान की जा रही है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सुशील चंद्र शर्मा ने भी दिव्यांगजनों के लिए चलाई जा रही विभिन्न प्रकार की सुविधाओं की जानकारी प्रदान की।  उन्होंने कहा कि दिव्यांगजनों के लिए वर्तमान में 21 प्रकार की बीमारियों को दिव्यांगता की श्रेणी में शामिल किया गया है। इसमें अंधपन, कम विजन, कुष्ठ रोग, बहरापन, मस्कुलर डिसट्रॉफी, स्पीच एंड लेंगुएज डिसेबिलिटी, थैलेसीमिया, एसिड एटैक, डवार्फनैसस, पार्किनसंज सहित अन्य बीमारियों को शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू में पहले तथा अंतिम शनिवार को निःशुल्क दिव्यांगता कैंप का आयोजन किया जाता है जिसमें दिव्यांगजन अपना प्रमाण पत्र बना सकते हैं। इसके लिए उन्हें अपने नजदीकी लोक मित्र केन्द्र में पहले पंजीकरण करवाना होगा। जिला रैड क्रॉस सोसायटी के सचिव वी.के. मोदगिल ने भी रैड क्रॉस सोसायटी द्वारा दिव्यांगजनों तथा गरीब व असहाय वर्ग के लिए चलाई जा योजनाओं तथा प्रदान की जा रही सुविधाओं की विस्तार से जानकारी प्रदान की। उन्होंने कहा कि दिव्यांजनों को स्वरोजगार के लिए भी सस्ती दरों पर ऋण प्रदान कर प्रेरित किया जा रहा है ताकि वे संबल होकर अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर बना सकें। जिला पुनर्वास केन्द्र में दिव्यांगजनों के लिए सुविधाओं को बढ़ाने के प्रयास किय जा रहे हैं।

इस अवसर पर विशेष रूप से सक्षम बच्चों द्वारा पेंटिंग, चेस, म्यूजीकल चेयर रेस, रस्सी कूद प्रतियोगिताओं के साथ शानदार सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी गईं। उपायुक्त ने दिव्यांग बच्चों द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रमों की सराहना की तथा उन्हें स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया।  उन्होंने 6 दिव्यांगजनों बुद्ध राम, प्रेम चंद, नरेश, लोक राज तथा अन्य को व्हील चेयर, बैसाखी तथा कान की मशीन भी निःशुल्क प्रदान कीं।

इस अवसर पर दिव्यांगजनों के लिए आयोजित प्रतियोगिताओं जिसमें शतरंज  में रोहित ने पहला जबकि संदीप ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार, चित्रकला में प्रिंस ने पहला, समर ने दूसरा, तेजस ने तीसरा, रस्सी कूद में अविनाश ने पहला, संतोष ने दूसरा, म्यूजीकल चेयर रेस (लडकियों) में प्रीया ने पहला, महिमा ने दूसरा तथा लडकों की म्यूजीकल चेयर रेस में नितिन ने पहला तथा संतोष ने दूसरा स्थान प्राप्त किया। इस अवसर पर परियोजना अधिकारी (डीआरडीए) सुरजीत सिंह, जिला लोक संपर्क अधिकारी प्रेम ठाकुर, शिक्षा विभाग से उप-निदेशक (उच्च शिक्षा) शांति लाल शर्मा के अतिरिक्त अन्य विभागों के अधिकारी तथा विभिन्न एनजीओ के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *