जिला स्तरीय सतर्कता एवं प्रबोधन समिति की त्रैमासिक समीक्षा बैठक डीसी की अध्यक्षता में आयोजित

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़ कुल्लू। अनुसूचित जाति/ जनजाति  अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 व 1995 के अंतर्गत गठित जिला स्तरीय सतर्कता व प्रबोधन समिति की त्रैमासिक समीक्षा बैठक उपायुक्त आशुतोष गर्ग की अध्यक्षता में आयोजित की गई। उन्होंने बताया कि उपरोक्त अधिनियम के अंतर्गत जिला कुल्लू में 59 मामले विभिन्न न्यायालयों में लंबित हैं जिनमें से 38 मामले सत्र न्यायालय कुल्लू  में तथा 16 मामले सत्र न्यायालय रामपुर में जबकि 5 मामले विशेष न्यायालय (पोक्सो कोर्ट) में लंबित हैं। इन मामलों में विभाग की ओर से सभी को मुआवजा राशि प्रदान की जा चुकी है। इसके अतिरिक्त पुलिस विभाग के पास 6 मामले अन्वेषण हेतु लंबित हैं इसके लिए उपायुक्त ने पुलिस विभाग को शीघ्र  कार्यवाही कर चालान की प्रति जिला कल्याण अधिकारी को भेेजने को कहा गया। इसके साथ अल्पसंख्यकों के कल्याणार्थ प्रधानमंत्री के 15 सूत्रीय कार्यक्रम के क्रियान्वयन बारे भी बैठक में चर्चा की गई। जिला में एकीकृृत बाल विकास सेवाओं के तहत अल्पसंख्यक समुदाय से सम्बंधित  शून्य से 3 वर्ष  तथा 3 से  6 वर्ष तक आयु वर्ग के 361 बच्चों तथा 74 गर्भवती व धात्री महिलाओं को लाभान्वित किया गया। मनरेगा के तहत अल्पसंख्यक समुदाय से सम्बंधित 98 लोगों के जॉब कार्ड बनाए गए तथा 63 लोगों को रोजगार प्रदान किया गया। जिला रोजगार कार्यालय में 47 आवेदन पंजीकृत किए गए तथा कौशल विकास भत्ता योजना के तहत 11 लाभार्थियों को डीसीए, पीजीडीसीए, एमएमवी, ब्यूटीशियन तथा कटिंग व सिलाई में  प्रशिक्षण हेतु पंजीकृत किया गया। इसी प्रकार बेरोजगार भत्ता योजना के तहत जिला में 86 लाभार्थी पंजीकृृत किए गए हैं। अल्पसंख्यक समुदाय से सम्बंधित महिलाओं को कौशल प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए आरसेटी के माध्यम से प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। राष्ट्रीय न्यास अधिनियम, 1999 के अंतर्गत जिला कुल्लू में अब तक 173 कानूनी संरक्षकों की नियुक्ति की जा चुकी है। तहसील कल्याण अधिकारी के माध्यम से प्राप्त एक और कानूनी संरक्षक की नियुक्ति हेतु आवेदन को भी समिति में स्वीकृति प्रदान की गई। उपायुक्त ने श्रम अधिकारी को निर्देश दिए कि जिला कुल्लू में सभी स्थानीय निकायों में कार्यरत सफाई कर्मचारियों को दिए जा रहे अवकाश, न्यूनतम वेतन एवं ईपीएफ व ग्रेच्युटी का रिकार्ड स्वयं निरीक्षण करने को कहा। जिला प्रबंधक अनुसूचित जाति जनजाति विकास निगम कुल्लू को मैनुअल स्कवैंजर अधिनियम के प्रावधानों एवं सरकार द्वारा प्रदान की जा रही सुविधाओं की जानकारी को लेकर सफाई कर्मचारियों के लिए जागरूकता कार्यशाला का आयोजन करने को कहा गया। ठेकेदार द्वारा सफाई कर्मचारियों से सम्बंधित शोषण को लेकर प्राप्त शिकायतों तथा उसके निपटारे को लेकर भी चर्चा की गई तथा ऐसे मामले होने पर सम्बंधित नगरपालिका श्रम अधिकारी को रिपोर्ट भेजना सुनिश्ेिचत करें। कम्प्यूटर एप्लीकेशन एवं प्रशिक्षण दक्षता योजना के तहत जिला कुल्लू में विभिन्न निजी संस्थानों में अल्पसंख्यक समुदाय के 166 लाभार्थियों को कम्प्यूटर कोर्स करवाया गया जिनमें से 47 लाभार्थियों ने पीजीडीसीए तथा 119 लाभार्थियों को डीसीए  कोर्स करवाया गया। इसके अतिरिक्त 135 लाभार्थियों को प्रशिक्षण के बाद सरकारी अथवा निजी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध करवाया गया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *