हिमाचल की स्थापना के 75 साल पर प्रगतिशील हिमाचल के तहत जिला में होंगे अनेक कार्यक्रम-डीसी

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़

कुल्लू

देश की आजादी के 75वें साल को आजादी का अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। राष्ट्रीयता की भावना को बल मिले और अपने तिरंगे के सम्मान में आगामी 13 अगस्त से 15 अगस्त तक जिला के सभी सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों, सार्वजनिक भवनों और घरों में तिंरगा लगाने का व्यापक कार्यक्रम है। इस मुहिम को सफल बनाने के लिये आज मुख्यमंत्री ने उपायुक्तों के साथ वीडियो कान्फ्रेसिंग की। मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय ध्वज के प्रोटोकोल का सम्मान करते हुए तिरंगा लोगों को जिला प्रशासन के माध्यम से उपलब्ध करवाया जाएगा जो काफी कम दर पर मिलेगा। पोलीस्टर, कॉटन, ऊन, सिल्क अथवा खादी कपड़े का यह तिरंगा गांव-गांव तक प्रत्येक घर को उपलब्ध करवाया जाएगा। सभी लोगों में तिरंगे के प्रति सम्मान व समर्पण की भावना उत्पन्न करना कार्यक्रम का उद्देश्य है। घर-घर तिरंगा अभियान के संबंध में उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने जिला की रणनीति के बारे में मुख्यमंत्री को अवगत करवाते हुए कहा कि स्कूली बच्चों को माध्यम से घर-घर तक तिरंगा पहंुचाने का कार्य किया जाएगा। जिस घर से स्कूल में बच्चा नहीं जाता है, वहां पंचायती राज संस्थानों के प्रतिनिधियों, स्वयं सेवी संस्थाओं, आंगनवाड़ी व आशा कार्यकर्ताओं महिला व युवक मण्डलों को अभियान में जोड़कर झण्डे पहुंचाए जाएंगे। इन संस्थाओं के माध्यम से लोगों में व्यापक जागरूकता फैलाई जाएगी। 22 जुलाई से सोशल मीडिया कैम्पेन आरंभ की जाएगी। चुने हुए प्रतिनिधियों के इंटरव्यू, शार्ट वीडियो इलेक्ट्रॉनिक चैनलों व सोशल मीडिया पर अपलोड करके संदेश गांव-गांव और घर-घर तक पहुंचाने के प्रयास किये जाएंगे। आशुतोष गर्ग ने कहा कि खण्ड विकास अधिकारी और पंचायत सचिवों की सेवाएं भी हर घर तक तिरंगा उपलब्ध करवाने के लिये प्रयोग में लाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि हर घर तक तिरंगा पहुंचाने के अधिक इस बात को सुनिश्चित बनाया जाएगा कि प्रत्येक घर पर यह तिरंगा लहराए। तिरंगे का सम्मान सभी लोग करें। 15 अगस्त के उपरांत भी तिरंगा इधर-उधर न पड़ा होना चाहिए। इसे घर में संभाल कर रखा जाए ताकि भविष्य में भी इसका उपयोग किया जा सके। उन्होंने कहा कि 13 अगस्त से 15 अगस्त तक शहरों व कस्बों में प्रभात फेरियों का आयोजन किया जाएगा। 15 अगस्त को सभी लोग स्वेच्छा से तिरंगा के नीचे खड़े होकर राष्ट्रीय गान गाकर इसका सम्मान कर सकते हैं। वीडियो कांफ्रेसिंग में मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश की स्थापना का भी 75वां साल चला है और इसे प्रगतिशील हिमाचल के नाम से व्यापक पैमाने पर मनाया जाएगा। हिमाचल तब और अब थीम पर प्रदेशभर में 75 कार्यक्रम अलग अलग स्थानों पर होंगे। इसी कड़ी में कुल्लू जिला के सभी विकास खण्डों में कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। इन समारोहों में मुख्यमंत्री, केन्द्रीय मंत्री व स्थानीय मंत्री भाग लेंगे। प्रत्येक समारोह में केन्द्र व राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के 5000 लाभार्थी भाग लेंगे। समारोहों में किसी प्रकार की घोषणाएं नहीं की जाएंगी। उपायुक्त ने अवगत करवाया कि प्रत्येक एक दिन में जिला के दो विकास खण्डों में दो कार्यक्रम किये जाएंगे। इनमें विभिन्न विभागों जैसे उद्योग, स्वास्थ्य, उद्यान, कृषि, पर्यटन, लोक निर्माण, जल शक्ति, शिक्षा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता तथा ऊर्जा विभागों की प्रदर्शनियां भी लगाई जाएंगी। हिमाचल में पिछले 50 से 75 सालों के दौरान हुई प्रगति का तुलनात्मक ब्यौरा प्रदर्शनियों के माध्यम से लोगों को प्राप्त होगा। इसके अलावा पर्यटन विभाग द्वारा जिला की इस यात्रा को दर्शाती प्रचार सामग्री भी प्रकाशित की जाएगी जिसे गांव गांव तक पहुंचाया जाएगा ताकि लोगों को विकास की इस लंबी यात्रा की जानकारी उपलब्ध हो सके। पुलिस अधीक्षक गुरदेव शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुशील चंद्र शर्मा, जिला लोक सम्पर्क अधिकारी प्रेम ठाकुर व नियंत्रक खाद्य आपूर्ति शिव राम भी इस मौके पर उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *