जिला में बागवानी विकास पर खर्च किए जाएंगे 793.40 लाख-आशुतोष गर्ग

इस खबर को सुनें

पूजा ठाकुर कुल्लू। जिला कुल्लू की वर्ष 2022-23 के लिये समेकित बागवानी विकास मिशन के तहत वार्षिक कार्य योजना तैयार करने को लेकर उपायुक्त आशुतोष गर्ग की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। योजना के तहत जिला में आगामी वित्त वर्ष के दौरान कुल 793.40 लाख रुपये की राशि विभिन्न बागवानी गतिविधियों पर खर्च की जाएगी। उपायुक्त ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला की आर्थिकी में बागवानी की बड़ी भूमिका है और अधिकांश ग्रामीण लोगों की आजीविका बागवानी से जुड़ी है, इसलिये जरूरी है कि इस क्षेत्र को और अधिक विकसित करने की दिशा में कार्य किया जाए। उन्होंने विभागीय अधिकारियों से कहा कि बागवानी की नवीन तकनीकी जानकारी बागानों में जाकर लोगों को दी जानी चाहिए। आवश्यकतानुसार कीटनाशकों का उपयोग करने संबंधी सलाह बागवानों को समय-समय पर दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि अच्छे स्टॉक रूट और पौध बागवानों को उपलब्ध करवाने की हमेशा आवश्यकता रहती है। बागवानी विभाग को नर्सरियों में अच्छी किस्म की पौध तैयार करके क्षेत्र विशेष की जलवायु के अनुरूप बागवानों को पौधे उपलब्ध करवाने चाहिए ताकि गल्त पौधे रोपने के कारण उन्हें किसी प्रकार का नुकसान न पहुंचे। उपनिदेशक उद्यान बी.एम. चौहान ने अवगत करवाया गया कि जिला में लघु नर्सरियां स्थापित करने पर 15 लाख खर्च किये जाएंगे। क्षेत्र विस्तार पर 12.45 लाख, उच्च गुणवत्तायुक्त सब्जियों पर द7.75 लाख, व्यक्तिगत तौर पर वर्षा जल संग्रहण के लिये 10 लाख की राशि का प्रावधान किया गया है। पावर स्प्रेयर के लिय 95.5 लाख की राशि, हाईड्रॉलिक मशीनों व पावर ट्रिलर के लिये 3 करोड़ की राशि का प्रावधान आगामी वित्त वर्ष के लिये किया गया है। इसी प्रकार, पैक हाउस के लिय 214 लाख रुपये, कोल्ड रूम के लिये 25 लाख, एकत्रण, छंटाई व ग्रेडिंग इकाईयों के लिये 58 लाख की राशि का प्रावधान बजट में किया गया है। उपायुक्त ने बैंक अधिकारियों से कहा कि बागवानों के लघु ऋणों की प्रक्रिया सरल होनी चाहिए ताकि उन्हें अनावश्यक बैंकों के चक्कर न काटने पड़े। बैठक में विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *