रंगमंच एवं एलाईड आर्टस की कार्यशाला में बच्चों को सिखाये जायेंगे कला के गुर

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़

कुल्लू

आजकल बच्चों का ग्रीश्मकालीन अवकाश चल रहा है तो बहुत से बच्चे इधर उधर घूमने, टेलीविजन देखने व मोबाइल पर गेम्स खेलने में अपना समय बर्बाद कर देते है। ऐसे में बच्चों को सृर्जनशील वातवरण प्रदान करने के उदेश्य से कुल्लू एवं लाहुल की रंगमंच के क्षेत्र में सक्रिय संस्था बहिरंग थिएटर ग्रुप ने कुल्लू के पिरड़ी गाँव में रंगमंच एवं एलाईड आर्टस की एक कार्यशाला आरम्भ की है जिसमें पिरड़ी, कोलीबेहड़ व दमसेहड़ के आसपास के गाँवों के लगभग 15 बच्चे हिस्सा ले रहे हैं। 29 जुलाई से आरम्भ हुई यह 15 दिवसीय कार्यशाला 12 अगस्त को सम्पन्न होगी। रंगकर्मी आरती ठाकुर द्वारा संचालित इस कार्यशाला में बच्चे खासतौर से ‘बैस्ट आउट आफ वेस्ट’ बनाना सीख् रहे हैं। इसमें बच्चे खराब चीज़ों से कोई उत्तम चीज़ कैसे बनाई जाए, यह सीख रहे हैं। बच्चे मन लगाकर वेस्ट मैटीरियल से अपनी मन चाही वस्तु को बनाने में खुब रूचि दिखा रहे हैं। इसके अलावा बच्चों को शारीरिक व्यायाम, बाॅडी लेंग्वेज, योगासन तथा प्राणायाम भी करवाए जा रहे् हैं। बेसिक वाॅयस एक्सरसाइजेज के साथ साथ स्टोरी मेकिंग, कविता पाठ के माध्यम से स्पीच सिखाई जा रही है। इसके साथ बच्चों को नाटक के मुखौटे बनाना भी सिखाया जाएगा जिन्हें संस्था के आगे होने वाले नए नाटकों में इस्तेमाल किया जाएगा। इस कार्यशाला में आकांक्षा, रागिनी, भावना, दुर्गा, नमखा, सोनम, वैशाली, राधिका, गीतांजलि, गुंजन, कुनाल, हनिश्का, सोनिया, यशपाल, मनमाया और तमांग आदि बच्चे बहुत ही उत्साह से हिस्सा ले रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *