एक भारत श्रेष्ठ भारत : संस्कृति, परंपराओं और प्रथाओं का आपसी राज्य के बीच आदान-प्रदान करने से भारत की एकता और अखंडता मजबूत होगी – पी आर चौहान 

इस खबर को सुनें

सुरभि न्यूज़ ब्यूरो

भराडू, जोगिन्दर नगर, 27 मई

राजकीय उत्कृष्ट वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला भराडू में एक भारत श्रेष्ठ भारत कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें मई महीने की गतिविधि में स्कूल के छात्रायों ने केरल राज्य में बनाये जाने वाले पारम्परिक व्यंजनों को बनाकर स्कूल में प्रदर्शित कर परोसा गया। इस कार्यक्रम में विद्यालय के प्रधानाचार्य पी. आर. चौहान एवं सभी अध्यापकों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया।

प्रधानाचार्य पी. आर. चौहान ने स्कूल के विद्यार्थियों को जानकारी देते हुए बताया कि एक भारत श्रेष्ठ भारत की घोषणा प्रधानमंत्री ने 31 अक्टूबर, 2015 को सरदार वल्लभभाई पटेल की 140वीं जयंती के अवसर पर की थी। इसके बाद वित्त मंत्री ने 2016-17 के बजट भाषण में इस पहल की घोषणा की।

उन्होंने बताया कि एक भारत श्रेष्ठ भारत कार्यक्रम का उद्देश्य भारत के राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में रहने वाले विविध संस्कृतियों के लोगों के बीच सक्रिय रूप से आपसी संपर्क बढ़ाना है, जिससे संस्कृति, परंपराओं और प्रथाओं के ज्ञान से राज्यों के बीच आपसी बेहतर समझ और जुड़ाव पैदा होगा।

विभिन्न प्रदेशों में पारम्परिक रूप से संगीत, नाटक, भोजन, भाषा, इतिहास, पर्यटन, मेले तथा त्यौहारों को आपसी राज्य के लोगों के बीच आदान-प्रदान करने से आपसी जुड़ाव बढेगा तथा भारत की एकता और अखंडता मजबूत होगी।

प्रधानाधार्य ने कहा कि अखण्ड भारत के निर्माण के लिए यह कार्यक्रम एक अच्छी पहल है। उन्होंने विद्यार्थियों को केरल राज्य तथा वहां के बनने वाले व्यंजनों के बारे में जानकारी प्रदान की तथा राष्ट्रीय एकता बनाए रखने के लिए सभी को प्रोत्साहित भी किया। अध्यापकों एवं विद्यार्थियों ने केरल में बनने वाले विभिन्न व्यंजनों का लुत्फ उठाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *